TECHNO CULTURE

पूरी दुनिया में मात्र एक ऐसा शहर जिसे Earth को भी जरूरत है I

पूरी दुनिया में मात्र एक ऐसा शहर जिसे पृथ्वी (Earth) को भी जरूरत है।
City of Peace ‘Aurovile’

भारत के इस शहर में न धर्म है,न पैसा और न सरकार #Auroville

दुनिया में कुछ चीज़े ऐसी भी होती है,जिनकी कल्पना करना भी मुश्किल होता है । एक ऐसी जगह जिसे इंसानियत के साथ साथ पृथ्वी (Earth) को भी बहुत जरूररत है।

आज ग्लोबल वार्मिंग के इस दौर में अगर आपको पता चले की एक ऐसा शहर भी है जहां पर न पैसे की कोई कीमत है,न धर्म की कोई खींचातानी और न सत्ता को लेकर कोई राजनीति। जिसे यूनेस्को (UNESCO) ने अंतर्राष्टीय शहर भी घोषित किया हुआ है।

सबसे दिलचस्प बात यह है की यह शहर कहीं और नही हमारे भारत देश में है। इस शहर का नाम ‘ऑरोविले(Auroville)’ है। भारत का एक ऐसा शहर जहां न धर्म न पैसा और न ही सरकार है। यह जगह साउथ इंडिया में  है,और चेन्नई शहर से मात्र 150 किलोमीटर दूर है। इस अन्तर्राष्टीय शहर की स्थापना सन् 1968 में ‘Mother-Mirra Alfasaa ‘ ने की थी। इसे ‘City Of down’के नाम से भी जाना जाता है। जिसका मतलब है ‘भोर का शहर’। इस शहर को बसाने का सिर्फ एक ही मकसद रहा है कि यहां पर सभी इंसान अपनी मूल प्रकृति में रहकर धन दौलत,जात-पात,ऊंच-नीच,और बिना भेदभाव के रह कर अपना जीवन व्यतीत करे।   ऑरोविले के मध्य में मातृमंदिर(Matrmandir) है,मदर के अनुसार यह ऑरोविल की आत्मा है। यह किसी भी धर्म से जुड़ा नही है। यह बहुत बड़ा ग्लोब है,जिसके ऊपर एक गोल्डन डिश लगी हुई है और डिश के ऊपर सोने के चिप्स लगे हुए है। यहाँ पर लोग सिर्फ योग साधना करते है।

यहां पर कोई भी इंसान आकर रह सकता है,लेकिन एक शर्त पर उसको यहां पर एक सेवक की तरह रहना होगा। इस शहर में दुनिया भर के 150 देशो के लोग रह रहे है।इस शहर की आबादी 50 हजार के आस पास है। ऑरोविल को यूनेस्को ने अन्तर्राष्टीय शहर के तौर पर प्रशंसा की है। इस शहर को भारत सरकार द्वारा भी समर्थन प्राप्त है।

पूरी दुनिया में मात्र एक ऐसा शहर जिसे पृथ्वी (Earth) को भी जरूरत है।

पूरी दुनिया में मात्र एक ऐसा शहर जिसे पृथ्वी (Earth) को भी जरूरत है।
City Layout Of Aurovile